Author Press Books
 
 
 
 
 
 
 
 

Book Details


Yogini Mandir


Subtitle: A Story of a Struggling Woman


Authored By: Satya Prakash Aseem


Publisher:  Authorspress


ISBN-13: 9789386722553


Year of Publication: 2017


Pages: 152

                                       Binding: Paperback(PB)


Category:  Poetry, Fiction and Short Stories


Price in Rs. 245.00

                             Price in (USA) $. 19.6

                            
Inclusive of All Taxes (After 30% Discount on the Printed Price)

Book Description


Book Contents


 
 

About the Book


 

'योगिनी मंदिर' न तो केवल एक राजनीतिक या सामाजिक उपन्यास है और ना ही कोई धार्मिक अथवा मानवीय संबंधों की कथा है। कहना होगा कि यह इन सबका एक निचोड़ है। 'योगिनी मंदिर' का कथानक उत्तर भारत के ठेठ ग्रामीण परिवेश में स्थापित है जिसमें वर्ग एवं जाति, सामाजिक आदर्शवाद और सुधारक, कठोर हिंसक नक्सलवादी वामपंथ, बाहुबल, सम्पन्नता, गरीबी के बीच उत्तरजीविता, महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति और दूसरी ओर निर्वाण की उत्कंठा आदि का एक ज़बरदस्त मिश्रण है। इस उपन्यास की नायिका इमरती एक ग्रामीण महिला है जो कि दलित होने के साथ एक भूमिहीन मज़दूर है। उसका संघर्ष, राजनीति के रंगमंच पर उसका त्वरित उत्कर्ष, अपने राजनीतिक गुरुओं की छाया से तेज़ी से निकलना .....और राजनीति के चरम पर पहुँचने तक हार न मानने का उसका अदम्य साहस...इस संघर्ष की राह के उसके साथी, संरक्षक, गुरु, निंदक, राजनीतिक उदय के दौरान उसका कुछ बातों को अपनाना और कुछ अन्य को ना अपना पाना ....और अंत में उसका अपने जीवन के लिया गया अंतिम निर्णय आदि उसकी इस असम्भव सी कथा और जीवन को जानने, समझने हेतु पाठकों को इस पुस्तक को पढ़ना ही होगा।

लेफ़्टिनेन्ट कर्नल श्याम सुंदर शर्मा शौर्य चक्र ( से. नि.), संपादक और कवि


About the Author


 

सत्यप्रकाश असीम : जन्म १९५६ में गाजीपुर (मोहम्मदाबाद ) उत्तरप्रदेश।

काशी विंद्यापीठ,वाराणसी से राजनीति शास्त्र में स्नातकोत्तर करने के पहले से लेखनकार्य।

करीब चार दशकों से हिन्दी पत्रकारिता। शुरुआत वाराणसी के लोकप्रिय राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक "आज" से, पटना "आज" के स्थानीय सम्पादक, फिर नयी दिल्ली स्थित "आज "में राजनीतिक सम्पादक के रूप में कार्यरत। वरिष्ठ पत्रकार के रूप में भारतीय प्रधानमंत्रियों के साथ लगभग ३५ देशों की यात्रा कर "आज" के लिए कूटनीतिक –रिपोर्टिंग,की। बिहार के मुख्यमंत्री पं. बिन्देश्वरी दुबे जी के प्रेस सलाहकार भी रहे, हिन्दी पत्रकारिता के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए "राजभाषा पुरस्कार "मिला १९८७ में। असीम जी स्वर्ण जयंती वर्ष २००३ राष्ट्रीय फिल्म में पुरस्कारों की जूरी के सदस्य भी रहे , राष्ट्रीय महत्व के विभिन्न विषयों पर दूरदर्शन के लिए दर्जनों वृत्तचित्रों एवं धारावाहिकों का लेखन-निर्माण एवं निर्देशन किया है। पहला कविता संग्रह "सुन समंदर " २०१६ में प्रकांशित हुआ।